धनतेरस पूजा का समय – कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदसी को धनतेरस कहते हैं . धनतेरस की पूजा का समय इस साल केवल तीस मिनट तक है जो कि शाम 5.28 से लेकर शाम 5.59 तक रहेगा .

पूजा विधि – सबसे पहले कुबेर और महालक्ष्मी की मूर्ति या तस्वीर शुभ मुहूर्त देखकर स्थापित करें . फिर अक्षत्, धूप, रोली, चंदन, सुपारी, पान का पत्ता, नारियल आदि अर्पित करें। फिर इनके मंत्रों का उच्चारण करें।

ओम श्रीं, ओम ह्रीं श्रीं, ओम ह्रीं श्रीं क्लीं वित्तेश्वराय: नम:।

श्री लक्ष्मी महामंत्र

“ॐ श्रीं ल्कीं महालक्ष्मी महालक्ष्मी एह्येहि सर्व सौभाग्यं देहि मे स्वाहा।।”

मन्त्र के पश्चात लाकर या तिजोरी की पूजा करें अगर आपके पास चंडी के लक्ष्मी या गणेश हो तो उनकी पूजा भी कर सकते हैं पूजा के पश्चात भगवान कुबेर और माँ लक्ष्मी की आरती करें पूजा में चढाई गई सुपारी को पीले कपडे में बांधकर तिजोरी में रख सकते हे

Leave a Reply